Skip to main content

Personality tricks in hindi 2018

व्यक्ती-महत्व विकास  Personalty Tricks

          पर्सनालिटी अगर अच्छी हो तो सभी लोग आपकी तारीफ करते है सराहते है। पर्सनालिटी डेवलपमेंट का मुख्य मकसद ही आपको दूसरों की नज़रों में लाना है। खुद को सही रीति से पेश करना पर्सनालिटी डेवलपमेंट का एक हिस्सा है। जिसमे सेल्फ कॉन्फिडेंस का बहुत बड़ा हाँथ होता है। इसके अलावा भी कई ऐसी बातें है जो पर्सनालिटी डेवलपमेंट के लिए जरुरी है जो इस प्रकार है।

अच्छे कपड़ो का चयन

      अक्सर होता यूँ है की जब आप किसी कंपनी में होते है तो उस कंपनी का अपना ड्रेस कोड होता है। कुछ लोग फोर्मल्स पर ज्यादा जोर देते है और कुछ इंडस्ट्री कज्युएल पर जोर देती है। जब भी आप किसी कंपनी के साथ जुड़ते है तो आपको वहां के नियम अनुसार कपड़ों का चयन करना होता है। साथ ही कलर कॉम्बिनेशन, टाई, बेल्ट, शूज़, नैपकिन (रुमाल) आदि का चयन शामिल होता है।
Personality tricks

चलने का तरीका

     जब भी आप ऑफिस या किसी होटल या रोड पर चलते है तो आपको आपनी चल पर विशेष ध्यान देना होता है। चलते वक़्त तेज़ चलना, सीधा देखना और लोगों को ग्रीट करना अच्छा आचरण मन जाता है। कई लोग चलते चलते पीछे बात करते है और किसी से टकरा जाते है, साथ ही चलते चलते लोगों को क्रॉस करते है। यह सभी बातें आपके आचरण को गलत साबित करती है। इसलिए जब भी आपको चलते वक़्त कॉंफिडेंट, सीधा देखना और लोगों को चलते वक़्त सम्मान देना अच्छा होता है।

हाव- भाव

     जब भी आप ऑफिस या पर्सनल जिंदगी में किसी से मिलते है तो आपके हाव- भाव सही रहना जरुरी है। ख़ास तौर पर यह बात उन लोगों पर साबित होती है जिनके नीचे कई लोग काम करते है, क्यूंकि आपने जूनियर्स से काम करवाने के लिए आपने हाव भाव का सही होना जरुरी है क्यूंकि लोग आपका काम तो कर देते है लेकिन वो काम उपरी मन से करते है इसलिए आपका हव भाव इस तरह होना चाहिये की लोग आपको अपना मान कर काम कर सकें।

मोटिवेशनल स्पीच

     जब भी मोटिवेशन की बात आई है, तो हम जिस तरह से भी मोटीवेट हो सकते है उस बात पर अनुसरण करना चाहिये। जैसे अपनी प्रोफेशनल और पर्सनल लाइफ में जो भी आपके हीरो है और ख़ास तौर से वो जो लोगो को इंस्पायर करते है उन्हें सुनना चाहिये। इससे आपको आपके कार्य करने में मदद मिल सकेगी।

कॉम्पलिमेंट-प्रशंसा करना(Compliment)

     जब भी आप किसी में भी कोई भी बात अच्छी देखे तो उनकी प्रशंसा करें। आम तौर पर होता यह है की जब कोई काम अच्छा हो जाता है तो कई लोग उसका क्षेय खुद पर और जब कोई काम गलत होता है तो वो काम की जिम्मेदारी वर्कर्स पर डाल देते है। साथ ही कॉम्पलिमेंट का मतलब यह भी होता है की जब आप आने कार्य करने वालों के साथ रहते है तो आप एक दुसरे कि अच्छी बातों की तारीफ करें। यह बिज़नस बढ़ने का एक अच्छा तरीका है।

सामने बैठे

  अक्सर हम देखते है की ऑफिस में या कॉलेज में कोई मीटिंग के दौरान कुछ लोग पीछे बैठना पसंद करते है। इसके पीछे कोई भी कारन हो सकता है। लेकिन हमे कोशिश यह करनी चाहिये की हम आगे बैठे और जो भी लो कह रहे है उसे ध्यान से सुने और आपने कार्यों में अमल करें। इससे आपका और आपके सीनियर के बीच कम्युनिकेशन का बांड स्थापित हो जाता है।

स्पीक अप (बोलना)

   कई लोग कितनी भी बुरी परिस्तिथि क्यूँ न आ जाये लेकिन कुछ बोलते नहीं है। इसा सीधा सीधा कारन डर होता है। लेकिन जब भी आप किसी ऑफिस में काम करते है या घर या स्कूल में पढाई करते है यह आपका आधिकार होता है की आप उन सब बारे में जाने जो आपके पढाई या कार्य से सम्बंधित है। यह आपका अधिकार है, इससे आपको आपके कार्य में गति मिलती है।

कॉन्ट्रिब्यूशन (योगदान) पर जोर(Contribution)

      अगर आप किसी कंपनी या स्कूल में हो तो आपको ग्रुप्स में काम करने का अनुभव दिया जाता है। यह अनुभव इसलिए दिया जाता है ताकि आप आपने कार्य क्षेत्र में सफलता हासिल कर सकें। आपको एक दुसरे के लिए योगदान देना होता है, कोई लिखता है, तो कोई उसे जांचता है, तो कोई उसे एडिट कर फाइनल कॉपी बनता है। यह एक ग्रुप वर्क है जो हर कॉर्पोरेट में चलाया जाता है।
Post a Comment

Popular posts from this blog

How to check your Unique Talent and talent identification

How to check your Unique Talent and talent identificationक्या है विशेष प्रतिभा या यूनिक टैलेंट ? प्रकृति ने हम सभी को अलग अलग बनाया है | सभी एक दूसरे से भिन्न हैं और सभी के अन्दर एक विशेष गुण होता है | अपने अन्दर की विशेष योग्यता को समझने के लिए पहले ज़रूरी है कि हम यह जानें कि आखिर ये विशेष गुण या प्रतिभा क्या होती है | आईये, विशेष प्रतिभा के चारित्रिक गुणों को समझें |
कोई ऐसा कार्य जो आप दूसरों की अपेक्षा अधिक निपुणता से करते हैं, यानि की आपका टेलेंट |कोई भी ऐसा काम जो आप पूरी लगन और मेहनत के साथ करते हैं |जिसे करने में आप कभी थकते नहीं और इसका भरपूर आनंद उठाते हैं |जो आपको और आपके आसपास के लोगों को उत्साहित करता हैं |जिसे आप कुशलता, और अधिक कुशलता के साथ करना चाहते हैं और आपको उसमें सुधार की भरपूर संभावनाएं दिखाई देती हैं |
हम में से ज्यादातर लोग अपनी योग्यताओं और प्रतिभाओं का विकास करने की बजाय उन्हें दबाते हैं | याद कीजिये अपने बचपन के दिन, आप में से कुछ लोगों को संगीत बहुत पसंद था, कुछ को चित्रकारी, कुछ को क्रिकेट खेलना और शायद कुछ को अभिनय करना | ऐसा नहीं है की आपको सिर्फ ये पसंद ह…

Hindi tips for the success in study

Hindi tips for the success in study       बोर्ड की परीक्षाओं का परिणाम आते ही जहाँ सामान्यतः चारों तरफ़ विद्यार्थियों में आनंद की लहर दौड़ जाती है, वहीं न्यूज़ पेपर्स और टीवी चैनल्स पर कुछ दुखद समाचार भी सामने आते हैं, जहाँ विद्यार्थी अच्छे नंबर ना आने और  Exam time में मानसिक दबाव के कारण आत्महत्या तक कर बैठते हैं | यह एक बहुत ही गंभीर विषय है क्योंकि विद्यार्थी आत्महत्या के मामलों में हम प्रथम स्थान पर हैं |  मित्रो कहा जाता है कि अभ्यास में जितना अधिक पसीना बहाओगे, युद्ध में उतना ही खून कम बहेगा| वैसे आज के प्रतियोगिता भरे युग में, पढ़ाई करना और अच्छे नम्बरों से पास होना किसी लड़ाई से कम नहीं रह गया है | बात तो बहुत सीधी सी है कि अगर आपको ये लड़ाई जीतनी है तो इसके लिए पहले से रणनीति बनाने और उसके अनुरूप तैयारी करने की आवश्यकता है | आमतौर पर सही मार्गदर्शन के अभाव में विद्यार्थी ठीक ढ़ंग से तैयारी नहीं कर पाते और परीक्षा का समय नजदीक आते ही उनमें चिंता और घबराहट बढ़ने लगती है | किसी भी परीक्षा की तैयारी करने और सफल होने के कुछ सूत्र यहाँ दिए गए हैं |


1. काम को टालने की आदत छोड़े मित्रों, यदि आप व…

How to motivate yourself tips in hindi

Motivational tips for Personality Develop in Hindi1. One Goal एक लक्ष्यजब भी मैं थोडा down हुआ हूँ , मुझे पता चला है कि अक्सर ऐसा इसलिए होता है क्योंकि मेरी life में एक साथ बहुत कुछ चल रहा होता है. मैं बहुत कुछ करने की कोशिश कर रहा होता हूँ. और ये मेरी Stamina  और motivation को ख़तम कर देता है. शायद ये सबसे सामान्य गलती है जो लोग करते हैं: वो एक साथ बहुत कुछ करने की कोशिश करते हैं. यदि एक समय में दो या तीन उससे अधिक लक्ष्य achieve करने का प्रयास करते हैं तो आप अपनी ( लक्ष्य पाने के लिए दो सबसे महत्त्वपूर्ण चीजें )energy और focus बनाये नहीं रख पाते. ये संभव नहीं है – मैंने कई बार कोशिश की है.       आपको अभी के लिए कोई एक लक्ष्य चुनना होगा, और पूरी तरह से उसपर लक्ष्य  करना होगा. मुझे यह पाता है ये कठिन है, पर मैं अपने अनुभव  से बता रहा हूँ. एक बार आप अपना अभी का निर्धारित लक्ष्य प्राप्त कर लें तो फिर उसके बाद आप अपने बाकी Target प्राप्त कर सकते हैं. 2. Find Inspiration प्रेरणा खोजिये     मुझे उन लोगों से प्रेरणा मिलती है जिन लोगों already वो achieve कर लिया है जो मैं करना चाहता हूँ, या वो…